Saturday, 1 July 2017

हर पल


वो एक पल ही तो है
जिसमें कई
सजाते हैं हम
वो पल ही तो है
जिसमें मुस्कराते है हम
एक पल ही तो है
जो याद बन
रह जाती है जहन में हमारे
सुख - दुख ,आना - जाना
रुठना मनाना
बस एक पल का ही काम है
तो क्यों न संवारे अपना
वो पल
रखें हर पल को संवार कर
ताकि खुश रहें
हम हर पल

सपने

#हिन्दी_ब्लॉगिंग

12 comments:

  1. स्वागत है रूचि जी ...... निरंतरता बनाये रखियेगा ...... शुभकामनाएं

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी
      आभार आपका
      अगर कोई गलती हो जाये तो बेझिझक बताये

      Delete
  2. सार्थक लेखन.....अंतरराष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉग दिवस पर आपका योगदान सराहनीय है. हम आपका अभिनन्दन करते हैं. हिन्दी ब्लॉग जगत आबाद रहे. अनंत शुभकामनायें. नियमित लिखें. साधुवाद.. आज पोस्ट लिख टैग करे ब्लॉग को आबाद करने के लिए
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  3. ओह्ह् !! आज तो गृहप्रवेश है यहाँ.. मिठाई किधर है ??

    ReplyDelete
  4. हिन्दी ब्लॉगिंग में इन दिनों कोई नव प्रवेशी दिखे तो मन बाग-बाग हो उठता है। #हिन्दी_ब्लॉगिंग आपका स्वागत कर रही है।

    ReplyDelete
  5. जय हिन्द...जय #हिन्दी_ब्लॉगिंग...

    ReplyDelete
  6. सपने शायद दूसरी पंक्ति का आखिरी शब्द है-


    वो एक पल ही तो है
    जिसमें कई सपने
    सजाते हैं हम
    वो पल ही तो है
    जिसमें मुस्कराते है हम
    एक पल ही तो है
    जो याद बन
    रह जाती है जहन में हमारे
    सुख - दुख ,आना - जाना
    रुठना मनाना
    बस एक पल का ही काम है
    तो क्यों न संवारे अपना
    वो पल
    रखें हर पल को संवार कर
    ताकि खुश रहें
    हम हर पल

    हाँ पल भर में ही सब कुछ है हासिल ...👌 अच्छी शुरुआत

    ReplyDelete